WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

यूपी के 50000 शिक्षकों को सरकार का तोहफा बुढ़ापे की टेंशन खत्म

OPS Latest News Today: उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 50000 शिक्षकों को पुरानी पेंशन का लाभ मिलने जा रहा है उत्तर प्रदेश कैबिनेट द्वारा इसका प्रस्ताव पास किया गया है उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 28 मार्च 2005 के पूर्व विज्ञप्ति किए गए और बाद में नियुक्त शिक्षकों को पुरानी पेंशन योजना का विकल्प देने का फैसला किया है।

इस फैसले से उत्तर प्रदेश के 50000 से अधिक शिक्षकों को पुरानी पेंशन का लाभ मिलेगा उत्तर प्रदेश में विशिष्ट बीटीसी 2004 बैच का विज्ञापन नई पेंशन योजना लागू होने से लगभग 1 साल से पहले ही जारी कर दिया गया था यह विज्ञापन 14 जनवरी 2004 को जारी किया गया था लेकिन 45660 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र नहीं मिल सकता था और इनका नियुक्ति पत्र दिसंबर 2005 और जनवरी 2006 में दिया गया था जिसके कारण इन सभी शिक्षकों को पुरानी पेंशन का लाभ नहीं मिल रहा था।Government's gift to 50000 teachers of UP, tension of old age ends

इन सभी शिक्षकों द्वारा हाई कोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक पुरानी पेंशन की लड़ाई लड़ी गई थी लेकिन इनको कहीं से कोई भी लाभ प्राप्त नहीं हुआ ऐसे ही सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में टीजीटी पीजीटी के पद पर नियुक्त 5000 से अधिक शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन का लाभ मिलने जा रहा है पुरानी पेंशन के माध्यम से ऐसे सभी शिक्षकों को बुढ़ापे की टेंशन खत्म हो जाएगी और उन्हें पुरानी पेंशन नाम की लाठी मिल जाएगी।

जानिए क्या अंतर है NPS और OPS में

  • पुरानी पेंशन में सरकारी कर्मचारियों के रिटायर होने के बाद आखिरी मूल वेतन और महंगाई भत्ते की आधी रकम बतौर पेंशन का उम्र सरकार के राजकोष से कर्मचारियों को दी जाती है।
  • जबकि नई पेंशन के अंतर्गत सरकारी कर्मचारियों को अपनी पेंशन में मूल वेतन का 10% हिस्सा देना होता है और उसमें राज्य सरकार केवल 14% का ही योगदान करती है।
  • पुरानी पेंशन में हर साल दो बार महंगाई भत्ता भी बढ़ा कर दिया जाता है।
  • पेंशन पाने वाले सरकारी कर्मचारी की मौत होने पर उसके परिवार को पेंशन दी जाती है।
  • पुरानी पेंशन में कर्मचारियों को रिटायरमेंट के बाद 20 लाख रुपए तक की ग्रेच्युटी प्राप्त होती है।
  • पुरानी पेंशन में कर्मचारियों के लिए 6 महीने के बाद मिलने वाला महंगाई भत्ता लागू होता है।
  • पेंशन कमीशन के लागू होने पर पेंशन रिवाइसड होने का फायदा भी रिटायर कर्मचारियों को प्राप्त होता है।
  • नई पेंशन स्कीम में रिटायरमेंट के समय ग्रेच्युटी का कोई भी प्रावधान नहीं किया गया है।
  • नई पेंशन स्कीम में 6 महीने के उपरांत मिलने वाला महंगाई भत्ता भी लागू नहीं होता है।
  • नई पेंशन स्कीम के अंतर्गत सेवा निवृत पेंशन पाने वाले के लिए एनपीएस फंड का 40% निवेश करना होता है और रिटायरमेंट के बाद निश्चित पेंशन की गारंटी भी नहीं होती है।
  • नई पेंशन स्कीम शेयर बाजार पर निर्भर है इसमें महंगाई भत्ते का प्रावधान शामिल नहीं किया गया है।
  • नई पेंशन स्कीम में सेवा के दौरान कर्मचारियों को कुल वेतन का 50% पेंशन के रूप में दिए जाने का प्रावधान है
  • पुरानी पेंशन योजना के अंतर्गत नई पेंशन योजना में रिटायरमेंट पर शेयर बाजार के अनुसार जो भी पैसा प्राप्त होगा उसको उस पर टैक्स देना होता है
  • पुरानी पेंशन योजना में कर्मचारियों के रिटायरमेंट पर जीएफ के ब्याज पर उसे किसी प्रकार का इनकम टैक्स नहीं देना पड़ता है।
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Sharing Is Caring:

We are passionate to provide you fresh and authentic content regularly. We always share the accurate insights to our readers. We have 10+ year experience in online media & Education fields. Feel free to contact Up Sarkari Help - upsarkarihelp@gmail.com