New Teacher Course: अब देशभर में 4 वर्षीय आईटीईपी के आधार पर बहाल होंगे शिक्षक,पुराने कोर्स का क्या होगा!

छह साल बाद 2030 से शिक्षक भर्ती की न्यूनतम योग्यता बदल जाएगी। 4 वर्षीय एकीकृत शिक्षक शिक्षा कार्यक्रम (आईटीईपी) के आधार पर सभी तरह के शिक्षकों की बहाली की जाएगी। इतना ही नहीं, वित्तीय वर्ष 2027-28 तक एक-एक करके शिक्षक प्रशिक्षण के लिए अभ्यर्थियों के लिए होने वाले सभी डीएलएड कार्यक्रमों को समाप्त कर दिया जाएगा।

फिलहाल 2024-25 सत्र ही शिक्षक शिक्षण प्रशिक्षण के लिए अंतिम सत्र होगा। दरअसल, अब देशभर में शिक्षकों की बहाली के लिए न्यूनतम योग्यता में बदलाव किया जाना है। वर्तमान में यह अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग है। हालांकि झारखंड समेत कई राज्यों में डीएलएड जैसे शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रमों को समाप्त कर दिया गया है।New Teacher Course

वर्ष 2027-28 तक एक-एक कर समाप्त हो जाएंगे डीएलएड कार्यक्रम

उत्तर प्रदेश समेत देशभर में अब शिक्षकों की भर्ती के लिए न्यूनतम योग्यता में बदलाव किये जाने को लेकर कार्ययोजना तैयार की जा रही है। इसमें बिहार समेत देशभर में डायट की संख्या में बढ़ोत्तरी किये जाने की योजना बनाई गई है। इसके बाद शिक्षकों को कई तरह के सेवाकालीन शिक्षण प्रशिक्षण की योजना पर काम शुरू कर दिया गया है। शिक्षा मंत्रालय की अंतिम अवधारणा के अनुसार आने वाले 6 सालों में UGC बताए गए संस्थानो के लिए तैयारी करनी होगी।

6 सालों में राज्यों को यूजीसी के बताए बहुविषयक संस्थान करने होंगे तैयार

GG शिक्षण प्रशिक्षण के लिए डीएलएड समेत अन्य कार्यक्रमों को समाप्त करने की योजना है। सत्र 2024-25 डीएलएड प्रशिक्षण का अंतिम सत्र हो सकता है। फिर शिक्षक भर्ती की न्यूनतम योग्यता 4 वर्षीय एकीकृत शिक्षक शिक्षा कार्यक्रम होगा। देश में डायट की संख्या बढ़ाए जाने पर भी काम चल रहा है। यह 2030 तक हो जाएगा।

जल्द ही उत्तर प्रदेश एमपी राजस्थान बिहार समेत 6 सालों यानी साल 2030 तक बिहार समेत सभी राज्यों को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के तय मानक के आधार पर बहुविषयक संस्थान को विकसित करने की तैयारी करनी होगी। जबकि शिक्षक अभ्यर्थियों को स्नातक के बाद दो वर्ष के विशेष विषय में बीएड डिग्री की मान्यता भी बहाल रहेगी। वहीं जिनके पास चार वर्षीय स्नातक डिग्री होगी, या किसी विशेष विषय में एमए किया होगा, उनके लिए एक वर्षीय बीएड डिग्री पर भी काम चल रहा है।

जाने क्या है आईटीपी कोर्स

एनसीटीई ने पूरे देश में शैक्षणिक सत्र 2023 24 से आईआईटी एनआईटी सेंट्रल और स्टेट विश्वविद्यालय सहित 57 अध्यापक शिक्षा संस्थानों में इंटीग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम शुरू किया है मार्च 2023 में इस कोर्स को लांच किया गया है ए नप 2020 के तहत एनसीटीई का एक प्रमुख प्रोग्राम है जिसके अंतर्गत आईटीपी जिसे 26 अक्टूबर 2021 को अधिसूचित किया गया था एक चार साल की दोहरी समग्र स्नातक डिग्री है जो बीए बीएड बीएससी बीएड और बीकॉम बीएड कोर्स ऑफर करती है यह 5 + 3 + 3 + 4 के लिए शिक्षकों को तैयार करेगा।

क्या होगा 2 साल के B.Ed. D.El.ed कोर्स का

एनसीटीई का आईटीबी कोर्स लागू होने के दो वर्षीय बीएड और डीएलएड कोर्स का क्या होगा तो इसको लेकर NCTE ने अभी तक कोई भी घोषणा नहीं की है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment