WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

UP Shikshak Bharti 2024: यूपी 80000 पदों पर नई प्राथमिक शिक्षक भर्ती को लेकर विभाग का जबाब, नए शिक्षा आयोग की टीजीटी पीजीटी परीक्षा कराने की तैयारी

UP Shikshak Bharti 2024/UPTET SUPERTET TGT PGT : उत्तर प्रदेश में शिक्षक भर्ती के लिए डीएलएड बीटीसी टेट सीटेट पास अभ्यर्थी पिछले 5 सालों से लगातार इंतजार कर रहे हैं तो बता दें ऐसे सभी अभ्यर्थियों को थोड़ा और इंतजार करना पड़ सकता है।

उत्तर प्रदेश में प्राथमिक शिक्षकों के लाखों पद रिक्त हैं इन पदों पर भर्ती के लिए अभ्यर्थी पिछले 5 सालों से शिक्षक भर्ती निकलने का इंतजार कर रहे हैं लेकिन सरकार द्वारा 2018 के बाद से कोई भी नई शिक्षक भर्ती नहीं निकल गई है जिसको लेकर डीएलएड, बीटीसी, टेट और सीटेट पास अभ्यर्थियों में काफी निराशा है नई शिक्षक भर्ती को लेकर विभाग द्वारा नई जानकारी दी गई है।UP Shikshak Bharti 2024

UP Shikshak Bharti  Latest Update

उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा निदेशक प्रताप सिंह बघेल द्वारा नई शिक्षक भर्ती को लेकर बताया गया है कि अभी सरकार की प्राइमरी शिक्षकों की नई भर्ती निकलने की कोई योजना नहीं है विद्यार्थियों और शिक्षकों का अनुपात बिल्कुल सही है इस वक्त बेसिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत परिषदीय विद्यालयों में 30 छात्र पर एक टीचर तय है और अपर प्राइमरी में 35 छात्रों पर एक टीचर तय है इस अनुपात को हम लोग बराबर रखे हुए हैं अनुपात बराबर होने के कारण पठन-पाठन के काम में कोई भी दिक्कत नहीं आ रही है नई शिक्षक भर्ती को लेकर राज सरकार के इस रूप से शिक्षक भर्ती का इंतजार करने वाले अभ्यर्थियों में निराश बढ़ गई है क्योंकि छात्र काफी लंबे समय से नई शिक्षक भर्ती निकलने को लेकर इंतजार कर रहे हैं।

प्राथमिक विद्यालय में 4 लाख से अधिक पद प्रधान अध्यापक और सहायक अध्यापक के स्वीकृत हैं, जबकि इन पदों के सापेक्ष 85000 से अधिक पद खाली हैं सरकार के अनुसार शिक्षामित्र और अनुदेशकों को मिलाकर छात्र शिक्षक का अनुपात सही चल रहा है जिससे पढ़ाई में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं हो रही है। साथ ही 12460 शिक्षक भर्ती के बचे हुए 5000 से अधिक शिक्षकों को विद्यालयों में नियुक्ति मिलने जा रही है।

प्रदेश के 27931 प्राइमरी स्कूलों में 50 से कम छात्र बंद करने की तैयारी?

परिषदीय विद्यालयों में नामांकन की स्थिति घटने के कारण यू डाइस पोर्टल पर 27931 स्कूलों में 50 से कम छात्रों का नामांकन है एक दर्जन से अधिक कंपोजिट विद्यालय ऐसे हैं जिसमें एक भी नामांकन नहीं है जबकि कई दर्जन ऐसे स्कूल हैं जिसमें केवल एक दो ही छात्र पढ़ रहे हैं सरकार द्वारा ऐसे सभी विद्यालयों का स्पष्टीकरण मांगा गया है।

गाजियाबाद नोएडा जैसे शहरों में 230 से अधिक सरकारी स्कूलों में 50 से भी काम छात्र संख्या है गौतम बुद्ध नगर में 511 प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूल हैं जहां 152 स्कूलों में बहुत ही कम छात्र संख्या बची है इसी तरह प्रदेश के अधिकतर सभी जिलों में ऐसे बहुत से स्कूल हैं जहां छात्र संख्या 50 से नीचे पहुंच गई है और यहां अध्यापकों की संख्या छात्र अनुपात से काफी अधिक हो गई है।

नई शिक्षक भर्ती का करना पड़ सकता है इंतजार

ऐसे सभी लाखों छात्र जो शिक्षक भर्ती का इंतजार कर रहे हैं तो उन्हें अभी और इंतजार करना पड़ सकता है फिलहाल नए  शिक्षा सेवा चयन आयोग के गठन की कार्यवाही भी चल रही है नए शिक्षा चयन आयोग के गठन की कार्यवाही पूर्ण होने के बाद लंबित भर्तियों को पूरा किया जाएगा, शिक्षा सेवा चयन आयोग द्वारा लंबित भर्तियों में यूपी टीजीटी, पीजीटी का एग्जाम और असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती के एग्जाम को पहले आयोजित कराया जाएगा हालांकि नई शिक्षक भर्ती को लेकर छात्रों द्वारा आंदोलन का ऐलान किया गया है अगर नई शिक्षक भर्ती जल्द नहीं निकल जाती है तो प्रदेश भर के डीएलएड, यूपीटेट, सीटेट पास अभ्यर्थी आंदोलन करेंगे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Sharing Is Caring:

We are passionate to provide you fresh and authentic content regularly. We always share the accurate insights to our readers. We have 10+ year experience in online media & Education fields. Feel free to contact Up Sarkari Help - upsarkarihelp@gmail.com