WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

UP Teacher Bharti: यूपी के शिक्षामित्र की तरह इन शिक्षकों की भर्ती समायोजन का आदेश जारी,प्रक्रिया शुरू

उत्तर प्रदेश में तदर्थ शिक्षकों के समायोजन को लेकर निर्देश जारी कर दिए गए हैं शिक्षामित्र की तरह ही तदर्थ शिक्षकों को 11 महीने के मानदेय पर समायोजन किया जाएगा इसके लिए विस्तृत दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं सचिव द्वारा माध्यमिक शिक्षा निदेशक को इस संबंध में निर्देश जारी किए गए हैं प्रदेश के सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में 2254 सदस्य शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया गया था अब इनको शिक्षामित्र की तरह 11 महीने के मानदेय पर नौकरी दी जाएगी।Up teacher bharti

पिछले दिनों उत्तर प्रदेश कैबिनेट में हुए फैसले के क्रम में यह फैसला किया गया है अब इन तदर्थ शिक्षकों के समायोजन के संबंध में विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए गए हैं अब इनकी समायोजन प्रक्रिया नई सिरे से शुरू की जाएगी और अब इनका नाम भी बदलकर Mandey शिक्षक रखा जाएगा इन शिक्षकों का रिटायरमेंट 62 साल की उम्र में होगा।

मिलेंगे 12 आकस्मिक अवकाश

मानदेय शिक्षकों के मानदेय का भुगतान समय-समय पर जारी निर्देशानुसार किया जाएगा इन सभी शिक्षकों को अधिकतम एक सत्र में 11 महीने के अंतर्गत 12 दिन का आकस्मिक अवकाश मिल सकेगा और इसके साथ-साथ 17 दिन का चिकित्सीय अवकाश भी मिलेगा इसके अतिरिक्त इन शिक्षकों को किसी प्रकार का कोई अन्य अवकाश नहीं दिया जाएगा अगर इसके अतिरिक्त यह शिक्षक कोई अन्य अवकाश लेते हैं तो अवकाश के दिन का मानदेय भुगतान नहीं होगा।

50% से कम रिजल्ट तो होगी सेवा समाप्त

मानदेय शिक्षकों के पढ़ाये जाने वाले विषय का रिजल्ट अगर उत्तर प्रदेश बोर्ड के 3 साल के परीक्षाफल के औसत का 50% से काम रहता है तो इन सभी शिक्षकों की सेवाएं समाप्त की जा सकती हैं इसके अतिरिक्त अगर इनका कार्य संतोषजनक या अनुशासन में ना हो या किसी अपराधिकृत गतिविधियों में लिप्त पाए जाते हैं तो दिशा निर्देशों का पालन करते हुए इनकी सेवाएं समाप्त कर दी जाएगी इसके साथ-साथ एक महीने तक लगातार अनुपस्थित रहने पर भी सेवाएं समाप्त हो जाएगी साथ ही सरकार द्वारा उनकी नियुक्ति भी कभी भी समाप्त की जा सकती है यह अधिकार राज्य सरकार का होगा।

मंडलीय स्तरीय समिति द्वारा होगा चयन

ऐडेड कॉलेज के अध्यापन की न्यूनतम कार्यात्मक आवश्यकता को देखते हुए इन शिक्षकों के विद्यालय निर्धारण आदि के लिए मंडलीय स्तरीय समिति गठित की जाएगी संयुक्त शिक्षा निदेशक समिति के अध्यक्ष बनाए जाएंगे जबकि संबंधित जिला विद्यालय निरीक्षक सदस्य सचिव होंगे उप शिक्षा निदेशक माध्यमिक व मंडलीय वित्त एवं लेखा अधिकारी सदस्य होंगे।

आकस्मिक मृत्यु की दशा में मृतक आश्रितों को किसी भी तरह का कोई भी सेवा संबंधी लाभ नहीं दिया जाएगा इसके साथ-साथ मानदेय भुगतान के आधार पर स्थाई नौकरी या नियमित कर जाने का दावा भी यह शिक्षक नहीं कर सकेंगे।

इसी महीने शुरू होगी चयन प्रक्रिया

तद्धित शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया इसी महीने शुरू हो जाएगी इस संबंध में विस्तृत दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं जल्द ही 2000 से अधिक शिक्षकों को मानदेय के आधार पर तैनाती दी जाएगी।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Sharing Is Caring:

We are passionate to provide you fresh and authentic content regularly. We always share the accurate insights to our readers. We have 10+ year experience in online media & Education fields. Feel free to contact Up Sarkari Help - upsarkarihelp@gmail.com

Leave a Comment