WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

UPTET: 220000 बीएड अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर सबको मिलेंगे सर्टिफिकेट क्या मिलेगी नौकरी! 35 हजार बीएड शिक्षकों को राहत

UPTET: प्राथमिक शिक्षक भर्ती में बीएड अभ्यर्थियो को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बाहर करने की फैसले से यूपीटीईटी 2021 में शामिल 220000 बीएड अभ्यर्थियों का अंक पत्र रोक दिए गए थे लेकिन हाल ही में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए आदेश के बाद इन सभी बीएड अभ्यर्थियों को यूपीटीईटी 2021 के अंक पत्र वितरित किए जाएंगे।

प्राइमरी शिक्षक भर्ती में B.ed को बाहर करने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश से उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा में प्राइमरी परीक्षा में सफल घोषित होने वाले 2 लाख से अधिक बीएड प्रशिक्षितों के अंक पत्र सिर्फ देखने दिखाने के लिए ही होंगे क्योंकि शिक्षक पात्रता परीक्षा के यह अंक पत्र प्राथमिक शिक्षक भर्ती में नौकरी नहीं दिला पाएंगे।Uptet

प्राथमिक शिक्षक भर्ती में बीटीसी के साथ बीएड को भी शामिल करने पर 2021 की यूपीटीईटी बीएड प्रशिक्षित अभ्यर्थियों ने बड़ी संख्या में अप्लाई किया था इसकी परीक्षा 23 जनवरी 2022 को उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों में कराई गई थी इसमें बीएड प्रशिक्षित को की संख्या 7 लाख के करीब थी प्राइमरी स्तर पर सफल होने पर प्राथमिक शिक्षक भर्ती में सम्मिलित होने के लिए सभी बीएड अभ्यर्थियों द्वारा यह परीक्षा दी गई थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए निर्णय के बाद बीएड अभ्यर्थियों को प्राथमिक शिक्षक भर्ती में शामिल करने से मना कर दिया था जिसके कारण अब यूपीटीईटी 2021 के यह प्रमाण पत्र नौकरी नहीं दिला सकेंगे।

B.Ed डिग्री प्राथमिक के लिए नहीं है वैलिड

बीटीसी अभ्यर्थियों द्वारा सुप्रीम कोर्ट में कहा गया था कि बीएड डिग्री प्राथमिक के लिए वैलिड नहीं है और इसको सुप्रीम कोर्ट ने सही माना था 11 अगस्त 2023 के फैसले में प्राइमरी शिक्षक भर्ती में बीएड डिग्री धारकों को बाहर कर दिया था इधर उत्तर प्रदेश पात्रता परीक्षा 2021 का परीक्षा परिणाम उत्तर प्रदेश परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से 8 अप्रैल 2022 को घोषित कर दिया गया था लेकिन इस मामले में हाई कोर्ट ने प्राथमिक TET अंक पत्र वितरित करने पर रोक लगा दी थी अब यह रोक हटा दी गई है यूपीटीईटी 2021 में प्राथमिक TET में 4 लाख से अधिक अभ्यर्थी पास हुए थे जिनमें से B.Ed डिग्री वालों की संख्या 220000 से अधिक है रोक हट जाने पर इन्हें भी अंक पत्र वितरित किए जाएंगे लेकिन अंक पत्र मिलने के बाद भी प्राथमिक शिक्षक भर्ती में शामिल नहीं हो सकेंगे क्योंकि सुप्रीम कोर्ट आदेश के बाद बीएड प्राथमिक शिक्षक भर्ती के लिए वैलिड नहीं है।

यूपी के 35000 B.ed शिक्षकों को बड़ी राहत

हाल ही में दिए गए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नए फैसले से B.Ed डिग्री के आधार पर सेलेक्ट होने वाले शिक्षकों के लिए बड़ी राहत मिली है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट द्वारा क्लेरिफिकेशन किया गया है कि ऐसे बीएड शिक्षक जो 11 अगस्त कि फैसले से पहले नियुक्त किए गए थे उन सभी की नौकरी नहीं जाएगी और वह सेवा में बने रहेंगे लेकिन 11 अगस्त 2023 के बाद B.Ed अभ्यर्थी प्राथमिक शिक्षक भर्ती में शामिल नहीं हो सकेंगे।

अभ्यर्थियों को है प्राथमिक शिक्षक भर्ती का इंतजार

उत्तर प्रदेश के डीएलएड अभ्यर्थियों को प्राथमिक शिक्षक भर्ती का बेसब्री से इंतजार है लेकिन अभी नए आयोग का गठन भी पूरी तरह से नहीं हो पाया है इसकी कार्यवाही काफी लंबे समय से चल रही है हालांकि नया आयोग अस्तित्व में आ गया है लेकिन नए आयोग द्वारा नई भर्तियों को लेकर अभी कोई भी नया कदम नहीं उठाया गया है देखने वाली बात यह होगी कि नया शिक्षा आयोग पुरानी लंबित भर्तियों को कब तक पूर्ण करेगा और नई शिक्षक भर्ती को लेकर कब प्रक्रिया प्रारंभ कर सकेगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now